TOP ten,farewell quotes in hindi,विदाई उद्धरण हिंदी में-2020

farewell quotes in hindi,

farewell quotes in hindi,विदाई उद्धरण हिंदी में

Farewell Shayari in Hindi
विदाई पार्टी के ऊपर बोली जाने वाली बेहतरीन शायरियां लेकर आया तो चलिए दोस्तों शुरू करते हैं
vidai paarti ke opar bali jaane vaali behatrin shayari
lekar Aay hai to chaliye doston shuroo karte hain

farewell quotes in hindi,

राई के अवसर पर जब हम हमसे हमारे खास दोस्त जुदा होंगे जब हम से जुदा होंगे तो उस वक्त मित्रता का भाव हमारे अंदर प्रकट होता दोस्त मित्रता यानी बिना कुंडली मिलाएं बिना पंडित से पूछे बिना गुण मिलान के बिना ईस्ट आराध्या के स्थापित होने

rai ke awsar par jab ham hamse hamaare khaas dost juda honge jab ham se juda honge to us vakt mitrta ka bhaav hamaare andar prakat hota hai dost mitrta yaani bina kundali milayen bina pandit se puchhe bina gun milaan ke bina est Aaraadhya ke sthaapit hone 

farewell quotes in hindi,

और आजीवन रहने वाला सबंध ऐसा शब्द होता है मित्रता का विदा होते समय आप ऐसी शायरी बोले कि aur Aajivan rahane waala sabandh aisa shabd hota hai mitrta ka vida hote samay Aap aisi shayari bole ki farewell quotes in hindi,

farewell quotes in hindi,विदाई उद्धरण हिंदी में

काश फिर मिलने की वजह मिल जाए साथ जितना भी बिताया वो पल मिल जाए काश फिर मिलने की
वजह मिल जाए साथ जितना भी बिताया वो पल मिल जाए चलो अपनी
अपनी आंखें बंद कर ले क्या पता ख़्वाबों में गुजरा हुआ कल मिल जाए

kash fhir milane ki bajah mil jaye Saath jitana bhi bitaaya bo pal mil jaye
kaash fhir milne ki vajah mil jaye saath jitna bhi bitaaya bo pal mil jaye
chalo apani apni aankhen band kar le kya pata khbaabon mein gujara hua kal mil jaye

farewell quotes in hindi,
हर किसी को बताई नहीं जाती कहते हैं दिल की बात हर किसी को बताई नहीं
जाती पर दोस्त तो आईना होते हैं और आईने से कोई बात छुपाई नहीं जाती

har kisi ko batai nahin jaati kahate hain dil ki baat har kisi ko batai nahin jaati
par dost to Aaina hote hain aur Aaine se koi baat chhupai nahin jaati

farewell quotes in hindi,

मिलो कभी चाय पर फिर किससे बनेंगे मिलो कभी चाय पर फिर
किससे बनेंगे बोलेंगे तुम खामोशी से कहना हम चुपके से सुनेंगे
milo kabhi chaay par fhir kisse banenge milo kabhi chaay par fhir kisse banenge
bolenge tum khaamoshi se kahana ham chupake se sunenge

विदाई उद्धरण हिंदी में

तो मित्र मित्रता एक ऐसा शब्द है जो बिना जाति धर्म के बिना रंगभेद की नीति अपनाए बिना लिंग भेद
की नीति अपनाए हमें अपने रंग में डालता है तो मैं कहूंगा कि दोस्ताना कम से कम इतना बरकरार
रखो बीच में ना आए दोस्ताना कम से कम इतना बरकरार रखो कि कभी मजहब बीच में ना आए कभी
तुम उसे मंदिर तक छोड़ दो कभी वह तुम्हें मस्जिद तक छोड़ा

to mitr mitrta ek aisa shabd hai jo bina jaati dharm ke bina rangabhed ki niti apnaye
bina ling bhed ki niti apnaye hamen apne rang mein daalta hai
to main kahunga ki dostaana kam se kam itana barakaraar rakho bich mein na aaye
dostaana kam se kam itana barakaraar rakho ki kabhi majahab bich mein na aaye kabhi
tum use mandir tak chhod do kabhi vah tumhen masjid tak chhoda

farewell quotes in hindi,

दोस्तों के साथ बिताया हुआ है समय बड़ा ही खुशनसीब होता है तो कहते हैं कि दोस्त साथ हो तो
रोने में भी शान है दोस्त. ना हो तो .महफिल भी शमशान .है दोस्त साथ हो .तो रोने. में भी
.शान है दोस्त ना हो तो. महफिल भी .शमशान है सारा खेल दोस्ती है.. वरना जनाजा और. बारात एक समान है

doston ke saath bitaaya hua hai samay bada hi khushanaseeb hota hai
to kahate hain ki dost saath ho to rone mein bhi shaan hai dost. na ho to
.mahaphil bhi shamashaan hai dost saath ho .to rone. mein bhi shaan hai dost na ho to.
mahaphil bhi shamashaan hai saara khel dosti hai varna janaaja aur. baraat ek samaan

farewell quotes in hindi,

देखकर दर्द किसी और का जो दिल से निकल जाती है देख देखकर दर्द किसी और
का जो आज दिल से निकल जाती है बस इतनी सी बात तो आदमी को इंसान बनाती है

dekhakar dard kisi aur ka jo dil se nikal jaati hai
dekh dekhakar dard kisee aur ka jo aaj dil se nikal jaati hai
bas itani si baat to aadmi ko insaan banaati hai

Read more.  Load Writer

farewell shayari

sawan the love season, सावन और लव शायरी! हिंदी

sawan the love season,

sawan the love season, सावन और लव शायरी! हिंदी

लव लेटर का सावन में

बदल जाता है मौसम का मिजाज सावन में बदल जाता है मौसम का मिजाज मानव जमीनी बना लिया हो फलक को अपना हमराज

मानव जमीने बना लिया हो फलक को अपना हमराज ताजगी से भरी होती है यह सारी फिजाएं ताजगी से भरी होती है यह सारी

फिजा है इन्हीं फिजाओं में आराम होता है मोहब्बत का एक नया आगाज इन फिजाओं में आराम होता है मोहब्बत का एक नया आगाज,sawan the love season,

कड़कती है बिजली फलक पर जब करें आतिशबाजी कड़कती है बिजली फलक पर जमकर आतिशबाजी मेरा दिल करना चाहे तेरी चाहत की मेहमान नवाजी मेरा दिल करना चाहे तेरी चाहत की

मेहमान नवाजी यह बारिश की बूंदे तुम पर क्या गिरी बेशकीमती हो गई यह बारिश की बूंदे तुम पर क्या गिरी बेशकीमती हो गई

वरना यह धूल में मिलने को थी राजी वरना यह धुन में मिलने को थी राजी इत्र समय के गया मेरे दिल का कोना कोना गुजरी जो

हमसे तेरी सांसे यह ताजी इत्र सा महके गया मेरे दिल का यह कोना कोना,sawan the love season,

sawan the love season. सावन और लव शायरी! सावन के ऊपर हिंदी शायरी

गुजरी जो हमसे तेरी सांसे यह ताजी कुछ इस कदर शामिल हो गया मेरा वजूद तेरी शक्ति है तुम्हें कुछ इस कदर शामिल हो गया है मेरा वजूद तेरी शख्सियत में कि तुझे पाने के लिए दिल नहीं लगा दी अपनी धड़कन की बाजी कि तुझे पाने के लिए दिल नहीं लगा दी अापने धड़कन की बाजी इन बारिश की बूंदों पर लिखूं मैं किस्सा तेरे मेरे इकरार का इन,sawan the love season,

बारिश की बूंदों पर लिखूं मैं किस्सा तेरे मेरे इकरार का कहां से करूं मैं शुरू तेरे दिल की जीत या अपने दिल की हार का कहां से करूं मैं शुरू तेरे दिल की जीत लिया अपने दिल की हार का तुझ में हीsawan the love season,

सिमटा है मेरा पूरा वजूद तुझ में ही सिमटा है मेरा पूरा वजूद वरना मेरी यह साथी मुझे लगती बस उधार का और ना मेरी यह सांसे मुझे लगती बसुधार का बारिश के इन बूथों पर चलो अपने

मोहब्बत की कहानी लिखें बारिश के इन मुद्दों पर चलो अपने मोहब्बत की कहानी लिखें कुछ ऐसे करें कारीगरी की हर लब्ज में मुझे सिर्फ तू ही तू दिखे कुछ ऐसे करें कारीगरी की हर लब्ज में

मुझे सिर्फ तू ही तू दिखे पानी की बौछार जब भी तेरे मुझ पर वार पानी की बौछार जब भी करें मुझ पर वार मेरे यह फिसलते कदम सिर्फ तुम पर आकर ही टिके मेरे यह फिसलते कदम सिर्फ तुम पर आकर ही ठीक है,sawan the love season,

सावन और लव शायरी! सावन के ऊपर हिंदी शायरी

यह बरसता सावन मानव प्रकृति का सोलह सिंगार है यह बरसता सावन मानव प्रकृति का सोलह सिंगार है आपका मेरे साथ हो ना ही मेरा सबसे बड़ा त्यौहार है आपका मेरे साथ होना ही सबसे बड़ा

त्यौहार है आसमान से गिरती है वह दे जब गिला करें धरती का आंचल आसमान से गिरती है बुरे जब गिला करें धरती का आंचल मोनू वह फलक कर रहा है अपने प्यार का इजहार है मानो वह

फलक कर रहा है धरती से अपने प्यार का इजहार है सावन जो चला है अपनी मुद्दों के बाद सा मंदिर चलाएं अपनी मुद्दों के बादsawan the love season,

तुम भी नहीं यह दिल ऐसे तड़पे जैसे जल्दी निकले मछली के प्राण तुम भी नहीं यह ऐसे तरसे जैसे जल्दी निकले मछली के प्राण

अंबर से बारिश की बूंदे जब जमीन को भी कोई अंबर से बारिश की बूंदे जब जमी को भिगो हैं तो ऐसा लगता है मानो आत्मा अपने

मोहब्बत की चासनी में धरती को डुबो ए तो ऐसा लगता है मानो

आसमा अपनी मोहब्बत की चासनी में इस जमी को डूबा तो मुझे उम्मीद है मेरी आज की शायरियां को पसंद आई होगी थैंक्स