Top1+motivational story in Hindi,inspirational story in Hindi

motivational story in Hindi,inspirational story in Hindi

Top1+motivational story in Hindi, inspirational story in Hindi

जीवन बदलने वाली कहानी

जो भी हमारे रिश्ते हैं हर रिश्ते की अपनी एक कीमत होती है पर मां बाप मां-बाप के रिश्ते का कोई कीमत नहीं है और वह अमूल्य ही रिश्ता होता है उसका कोई हिसाब ही नहीं है और मां-बाप हमेशा चाहते हैं कि हमारे बच्चे का भलाई हो और एक अद्भुत रिश्ता होता है inspirational story in Hindi

पिता का मां का वह कभी नहीं चाहते कि हमारा बच्चा कभी किसी गलत काम में लगे वह हमेशा चाहते हैं कि उसका अच्छा ही यू कहते एक बार भी नाम वाले कवि थे उनके पिताजी भी राज दरबार में बड़े मान प्रतिष्ठा वाले कवि थे उस समय कन्नौज राज्य का राजा बड़ा धर्मात्मा था उसकी सभा में बहुत कम ही रहते थे जो विद्वान कभी होता था उसको दे ता था देता था राजा उनको जीवन यापन के लिए खर्च भी देता था उनकी कविताएं और उनकी शिक्षाएं भी सुनता था जब वे कविराज कवि राज दरबार में आते तो राजा आदर के रूप में उनको एक पान का बीड़ा inspirational story in Hindi

देता था उन कवियों में एक पंडित था जो बड़ा ही विद्वान था परंतु उसका लड़का उससे भी अच्छा कवि निकला यद्यपि उस लड़के की आयु 17 से 18 वर्ष की थी परंतु उसकी कविता बड़ी मधुर मार्मिक और शिक्षा देने वाली होती थी जब मैं राजदरबार में वे राज दरबार में अपनी कविता सुनाता सुना था तो उसकी उम्र को देखते हुए राजा खुश होकर के हो कर के करके उसका स्वागत करते दो पान के पेड़े देकर करते थे सबको एक देते थे

A1 motivational story in Hindi

लेकिन इस बच्चे को जो सतारा 18 साल का बच्चा था उसको दो पान के देते बहुत से पंडित यह देख कर जलते उस के उसके पिताजी के मन में बड़ी खुशी होती थी और साथ में चिंता भी होती थी यह अभी सत्रह अट्ठारह साल का बच्चा है इसके गुरुकुल के 25 वर्ष पूरे नहीं हुए इतने बड़े मन से मान से इसकी बुद्धि कहीं कई अभिमान में भर ना जाए और यह कोई गलत काम नहीं करें और इसका प्रगति और इसकी उन्नति रुक जाए सारे दर्शन दर्शनशास्त्र भी अभी इससे इसे जानने अभिषके और पढ़ाई करनी है आध्यात्मिक विद्या भी सारी

inspirational story in Hindi,motivational story in Hindi,inspirational story in Hindi

इस बच्चे ने खाली थोड़ा सा संस्कृत का अध्ययन कर लिया और थोड़ा साहित्य जान लिया उसके अनुसार बुद्धि अतिथि कवि बन गया यदि समान आदर के चक्कर में रह गया तो इसकी प्रगति और इसकी उन्नति रुक जाएगी ज्यादा मान सम्मान मिलता है तो इंसान न में अब ी में अभिमान आई जाता है और अभिमान के कारण वह फिर पर अभिमान आया मतलब उसका फिर पतन होना ही है जिस inspirational story in Hindi

समय उसका लड़का कहीं से ज्यादा माना दबा कर दबाकर फूला फूला घर आकर अपनी मां से अपनी बात सुनाने लगता तो पास में बैठा हुआ उसका पिता उसमें अभिमान ना आ जाए इस उद्देश्य कहता यह लड़का बड़ा ही मुर्ख है इसको यह समझ ही नहीं है कि सभा में मान तो मेरा है मेरा लड़का होने से दूसरे तेरा मान करते हैं तो अपना ही समझ बैठा है मेरे कारण तेरे को इज्जत मिलती है तेरा मान होता है ना कि तेरी कोई इज्जत और मान है तू विद्या की उन्नति कर और इस मान सम्मान,motivational story in Hindi,inspirational story in Hindi

जीवन बदलने वाली कहानी

चक्कर में थोड़ी विद्या तेरी अवश्य है परंतु उत्तम मान के योग्य भी नहीं है क्या क्या है कल का छोकरा कल का लड़का अभी कुछ नहीं जानता है इस तरह कहने के पीछे उसका पिता चाहता था कि उसके अंदर तेज पैदा हो जिससे वे जोश में आकर अपनी विद्या को विद्या को अधिक बढ़ाने का जतन करें पिता की बात सुनकर और मन motivational story in Hindi,inspirational story in Hindi

लगाकर अपना अध्ययन करता रहता इस प्रकार एक दो साल और विजय एक दिन बड़ा भारी कवि दरबार हुआ राजा ने कभी राजा ने कभी कवियों को बुलाया बड़े बड़े बड़े-बड़े अनेक राजा भी उस दरबार में उपस्थित थे उस दरबार में सबसे बड़ा कवि वही लड़का माना गया और उसको बड़ा आदर मान सम्मान मिला इस कवि दरबार में राजा ने पुरस्कार भी रखा था कि जो आज के दरबार में बड़ा कवि निकलेगा

उसको गाली देगा राजा ने पुरस्कार जैसा एक नया घर प्रबुद्ध मात्रा में धन भी दिया उस दिन उस लड़के ने सोचा कि आज मैं घर जा जाकर पिता को बताऊंगा कि यह मेरा मान,motivational story in Hindi,inspirational story in Hindi

inspirational story in Hindi

कि आपका मान है इस प्रकार उसके मन में अहंकार आ गया वह घर गया और खुशी खुशी अपनी मां के सामने जाकर अपना मान दिखाने लगा और बोला पिताजी रोज मुझे मूरत कहते हैं और मेरा अपमान करते हैं ऐसा मालूम पड़ता है कि मेरे motivational story in Hindi,

पिताजी को भी मेरा मान सहन नहीं होता देखो मैं आज कितना माल लेकर आया हूं इज्जत लेकर आया हूं उसकी मां कहने लगी कि कोई बात नहीं बेटा मैं तेरे पिताजी है और तेरे भले के लिए ही कहते हैं परंतु उसकी समझ में यह बात नहीं बैठी देखो यह मान का बंधन मनुष्य को कितना अंधा बना देता है तथा बुद्धिमान को बुद्धिहीन

motivational story in Hindi,inspirational story in Hindi

कर देता है अंत में जिस समय आ ए ा आया तो उसको ही ही वे सुनाने लगा कि देखो पिता जी पिताजी आज यह मैं मैं कितना आदर मान सम्मान लेकर आया हूं यह क्या बच्चा समझ कर समझकर मुफ्त में मुझे राजा ने मान सम्मान दिया है इस प्रकार लड़के के वचन सुनकर उसके पिताजी ने पहले से और अधिक भला बुरा

motivational story

motivational story in Hindi,inspirational story in Hindi

और का कहा कि तुम मूर्ख है और तेरे से बड़ा मूर्ख मैंने देखा ही नहीं है तेरी बुद्धि भ्रष्ट करने के लिए यह सारा काम किया गया है तू समझता नहीं है मान किसका है तेरा मान कुछ नहीं है तेरे कुल और बाप दादाओ का मान राज दरबार में है जो तुझे मिल रहा है क्यों क्यों तू क्यों अभिमान कर रहा है अभी मन कर रहा है कि मुझे मान मिलाएं तेरे को कुछ भी आता जाता नहीं है तू मेरा मुल्क है जैसे जैसे जैसे-जैसे motivational story in Hindi,inspirational story in Hindi

जितना वह मानसी फूला हुआ था पिताजी ने उतनी ही मन से उसे नींद आरोपी डंडे मारे मन में मन में चूर हो गई और समझा कि मेरा बाप मेरा मान सम्मान सहन नहीं कर पाता उसके मन में ऐसा विचार आया है कि यह मेरा बाप नहीं मेरा बैरी है ऐसा ही होता है जब कोई हम को समझाना चाहता है तो हमको वह हितकर नहीं लगता और हमको दुश्मन लगने लगता है जैसे दूसरों को मेरा मान सम्मान बुरा लगता है उसी प्रकार मेरे पिताजी को भी मेरा मन अच्छा नहीं लगता और

motivational story in Hindi,inspirational story in Hindi

the motivational story in Hindi

करने में नहीं आ रहा इसको इतना मान तो राज दरबार मिला नहीं और मेरा मान मान सहन नहीं कर पा रहा बेटे के मन में यह आ गई बात कि जितना इतना मान सम्मान मुझे मिल रहा है भाभी के मन में कभी बाहर भी के मन में यह बात आ गई कि जितना मान मुझे मिल जाए मेरे पिताजी को नहीं मिला इसलिए मेरे पिताजी मेरे से चिढ़ रहे हैं और मेरे मन को सहन नहीं कर पा रहे इस प्रकार की बुद्धि उसकी लड़के को लड़के को पिता से उचित मात्रा में मान नहीं मिला तो लोग में से नौ नौ motivational story in Hindi,inspirational story in Hindi

लोग मानदेय अगर एक 11 लोग 11 लोग एक इंसान मान नहीं दे तो अंदर जी में खटकता है और यही भाभी को अपने पिताजी के ऊपर खटकता था कि था कि मुझे मान देते हैं लेकिन मेरे पिताजी मुझे मान नहीं देते जब लड़के को पिता से उचित मात्रा में मान नहीं मिला तो उसके मन में आया कि पिताजी नीचे बैठ बैठ करके भोजन करते हैं मैं छत पर बैठ जाऊंगा जब पिता जी खाना खाने के लिए इसी छत motivational story in Hindi,inspirational story in Hindi

the motivational story

छत के रोशनदान के नीचे बैठे होंगे उस समय ऊपर से बड़ा भारी पत्थर के रोशनदान में से गिरा कर पिताजी को मार दूंगा देखो यहां तक उसका दोस्त संकल्प बन गया जिसको चारों तरफ से मान इज्जत मिलती है और घर का इंसान बड़ा पिताजी इज्जत नहीं दे रहा तो वह पिताजी को अभिमान कितना खराब है मान इज्जत मिल जाती है इंसान तो रिश्ते नाते सब भूल जाता है इस विचार को लेकर वह चुप कर छुपकर ऊपर जाकर बैठ गया उसने ऐसा प्रतीत करवाया कि पिता द्वारा motivational story in Hindi,

की गई निंदा से मुक्त होकर घर से बाहर होकर कहीं निकल गया अर्थात भाग गया है उसका पिता जो राज कविता राज दरबार से घर पर आया तो उस लड़की की माता ने आते ही का कि आपने अपने बेटे की इतनी निंदा की है आज सुबह से घर से चला गया और उसने आज भोजन तक नहीं किया है जब उसकी माता ने लड़के के घर से भागने के बारे में का तो पिता ने का तू भी मूर्ख है तेरे को पता नहीं motivational story in Hindi,inspirational story in Hindi

the inspirational story in Hindi

मेरा बेटा है मुझे नहीं पता कि उसका भला क्या है मैं नहीं जानता कि मेरे बेटे का भला किस में होगा यदि अभी से वह मान के चक्कर में सलमान के चक्कर में पड़ गया मिलता है तो उसकी उन्नति रुक जाएगी प्रगति रुक जाएगी तुम जानती हो कि उसके मन में मैं कितना उछलता हूं मुझे कितनी अंदर अंदर में खुशी होती है कि मैं जो मान सम्मान नहीं पा रहा वह मेरा बेटा छोटी उम्र में पा रहा हूं मुझे बहुत motivational story in Hindi,inspirational story in Hindi

खुशी होती है और बस उस खुशी को मैं बाहर प्रकट नहीं कर पाता तुम भी मुंह रखो और वह भी मूर्ख है मैं ही जानता हूं कि मेरे बेटे को कैसे संभाला जाता है और कैसे संभालना है कैसे उसे कुछ पढ़ाई करा कर कुछ प्रगति कराकर कैसे उसको पूर्ण करना है फिर इसकी सबसे ज्यादा खुशी हम दोनों को ही होगी जब यह और ज्यादा ऊंचे पद पर पहुंच जगह अभी इसमें कुछ सीखा ही नहीं जब पिता ने ऐसा कहा तो वही लड़का motivational story in Hindi,motivational story in Hindi,inspirational story in Hindi

A1 Solid inspirational Story

बैठा रोशन छत पर सुन रहा था तब तो उसको ऐसा लगा कि जैसे किसी ने उसी के ऊपर उस ी े उसने सोचा कि मेरा पिता मेरा इतना भला सोच रहा है और मैं उसको मारने के लिए चल पड़ा सचमुच में मेरे से बड़ा मूर्ख कोई नहीं हो सकता क्योंकि उनके अंदर के सई बाबा को मैं नहीं समझ सका मान इज्जत बढ़ाई में मैं अपने अंदर क्या बनाने चाहते मेरे पिताजी और मैं इस बात को नहीं समझ सका motivational story in Hindi,inspirational story in Hindi

इस प्रकार का भाव उसके मन में बना अब मैं पिताजी के सामने कैसे प्रकट हुई वह जाकर अपने पिता जी के चरणों में पड़ गया और का पिता जी पिता जी वास्तव में मूरत से भी महा मूर्ख महामूर्ख आप मुझे दंड सुनाओ पिताजी का अरे बेटा किस बात का दंड सुनाओ सुनाऊं उसने कहा कि मैं मैंने अपने पिताजी को जान से मार डालने की सोची थी तब पिताजी का अरे तूने कहा मार डाला है मैं तो तेरे सामने जीवित बैठा हूं तब सारी बात उसने खोलकर अपने पिताजी को बताई का का सुन बेटे जैसा मूर्ख तू पहले था motivational story in Hindi,inspirational story in Hindi

 inspirational Story

ही अब तू मूर्त रूप से सिद्ध भी हो गया है तुझे अभी भी नहीं पता कि मौत कितने प्रकार की होती है जैसे जीवन से ज्यादा मांग को मानते हो पिता से बड़ा मान को तुम मानते हो ऐसे मौत भी एक से एक बड़ी होती है उसने कहा कैसे कहा कैसे पिताजी ने समझाया कि मान जाना सबसे बड़ी मौत होती है कोई कितना भी धनवान हो लेकिन उसकी कोई इज्जत नहीं करता तो समझो वह मरा हुआ है इसलिए तू अपना अपमान करा ले कराले लड़के ने कहा कि मेरा अपमान तो कोई motivational story in Hindi,inspirational story in Hindi

नहीं करता राजा तक मेरा मान करते हैं मैं अपमान कैसे करूं पिताजी ने काम मैं बताता हूं तुम अपनी ससुराल चले जाओ मैं उनको चिट्ठी लिख देता हूं तुम वहां जाकर कुछ दिन नौकरी करना जब उनकी तो जहां तुम को मान मिलता है वहां नौकरी का अपमान मिलेगा जाओ पत्र में लिख देता हूं और तुम्हें यह ख्याल रखना है कि मैं उनकी ससुराल की नौकरी कर रहा हूं वहां motivational story in Hindi,

A1जीवन बदलने वाली कहानी motivational story in Hindi,inspirational story in Hindi

रोज अपमान होगा मान भंग होगा तो वह मौत से भी बदतर है उससे तेरा जो तू पिक करना चाहता है उसे तेरा हो जाएगा इस मौत से कुछ नहीं होगा जिससे तू एक बार मरेगा उसकी बात समझ में आ गई उसने कहा देखो सचमुच मेरे पिताजी बड़े बुद्धिमान है है जो कि मुझे मरने से भी बचा रहे हैं और मेरा पाप भी धो रहे हैं तथा मुझे शिक्षा भी दे रहे हैं पिता का पत्र लेकर लड़का ससुराल चला गया ससुराल में जाने के बाद कुछ दिन उसका दामाद की तरह स्वागत किया गया बाद में उन्होंने motivational story in Hindi,inspirational story in Hindi

कहा देखो हमारे यहां बाजरा ी के लिए के लिए चिड़िया उठानी पड़ती है खेत में ऊपर मचान देते हैं अब आप खेत में जाओ हमारे खेतों की चिड़िया उड़ा उड़ाओ पहली नौकरी तो उसको यही दी गई वह कभी तो थाई था इसलिए नौकरी भी करता और अपनी पुस्तक भी लिखता रहता पास में और दूसरों के खेत भी थे उन खेत वाले वाले के लड़कों कविता को सुनाता आते वह लड़के उनको motivational story in Hindi,inspirational story in Hindi

A1 motivational stories

सुनाता सुनाते उसने उनको इतना लोहा दिया लड़के कहने लगे कि आप हमें यही कविता सुनाते रहा करो आप के खेतों की रखवाली तो हम ही कर देंगे वह मचान पर बैठा बैठा कविता रस्ता पुस्तके लिखता और इस तरह उसे काफी दिन बीत गए जब दूसरी फसल आई तो उसकी घरवाली के बच्चा होने वाला था उसके ससुराल वालों ने कहा कि आप इस खर्च के जिम्मेदारों जिम्मेदारों और इसके लिए ₹500 की motivational story in Hindi,inspirational story in Hindi

जरूरत है कहीं से भी ने कहा कहा मैं कहां से लाऊंगा तो उन्होंने कहा कि यहां के राजकुमार के पास जाओ सबसे ज्यादा उसी के पास धन है उसके पास आप अपनी कोई वस्तु गिरवी रखकर के आवश्यक धन ले आओ उसने सोचा कि मेरे पास और तो कोई वस्तु नहीं है परंतु मैं एक कवि हूं मैंने एक ग्रंथ की रचना की है जिसको मैं गिरवी रख देता हूं जब तक इस ग्रंथ का प्रचार प्रचार नहीं करूंगा जब तक रुपए वापस नहीं दे दूं मैं राजा कोई अपना ग्रंथ motivational story in Hindi,

A1 inspirational 

और तब तक मैं उसका प्रचार नहीं करूंगा जब तक मैं उसके पैसे उसको देना तू ऐसा विचार करके वे राजा के पास गया और कहा कि महाराज मेरे ग्रंथ का यह एक श्लोक ऑफ़ रखें और इसके आप कृपया करके मुझे ₹500 दे दीजिए जब तक आपके आप के ₹500 वापस नहीं ्त क मैं मैं इस ग्रंथ का प्रचार नहीं करूंगा चलो का भावार्थ अर्थ इस प्रकार है कि कोई भी कार्य झटपट नहीं करना चाहिए कारण की कि अब motivational story in Hindi,inspirational story in Hindi

की अविवेक अर्थात बिना सोच-विचार के झटपट प्रकृति के जोश में जो काम किया जाता है वह परम आपदाओं का घर होता है जो मनुष्य विवेक से सोच-विचार करके करके कार्य करता है उसको सारी संपत्ति संपत्तियां मिलती है श्लोक तो अपने ढंग का संस्कृत में लेकिन अब वे कारते बिना विचार किए विवेक उसे कहते हैं कि जो वस्तु जैसी है उसको वैसा समझ लेना जबकि अविवेक में जो वस्तु जैसी है वैसी तो समझ में आती नहीं तथा कुछ और ही समझ में आती है ना जाने का राजा ने कहा ठीक है श्लोक तो motivational story in Hindi,inspirational story in Hindi

Top1+motivational story in Hindi

बढ़िया है पढ़ कर पढ़कर उसने सोचा कि हम राजा है झटपट कहीं भी किसी पर भी क्रोध आने पर हम तलवार चला देते हैं इसलिए इस श्लोक को तलवार की मन में शुरू में रख देते हैं जब तलवार निकाले तो पहले इस लोक का पर्चा गिरते ही सोचने के लिए चौकस कर दी ठहरो जरा सोच कर काम करना कहीं ऐसे ही नहीं दूसरे को मार डाला बिना विचारे अपना विवेक यूज करना राजा ने वैष्णो तलवार की म्यान में रख लिया और उसको ₹500 दे दिए ₹500 लेकर घर आ गया और वे रुपए motivational story in Hindi,inspirational story in Hindi

घरवालों को दिए उसकी घरवाली ने पुत्र को जन्म दिया उसने अपनी ससुराल वालों से का कहा कि आप अपना सामान बगैर वगैरा कर जो कुछ बेटे का संस्कार करना है वह करो उस समय मुसलमानों का राज्य था जितने भी राजपूत राज आते राजा थे यह सब उनके अधीन थे कहीं काबुल में लड़ाई दरबार से आज्ञा मिलेगी गुजरात काठियावाड़ का राजा भाग लेकर पहुंच जाए सेना के साथ आज्ञा पाकर युद्ध क्षेत्र पहुंच गया राजा 5 साल inspirational story in Hindi

A1inspirational story in Hindi

उधर हीरा तथा आ नहीं सका जब यह लड़ाई में गया तो आजा का लड़का 6 साल का था और जब वापस आने वाला था तो 5 साल और 11 साल का हो गया था तो राजा के मन में आया कि मैं इतने दिन से गया नहीं हूं तो मेरे बेटे को भी मैं देखूं मैं कितना बड़ा हो गया है और रानी को भी देखूं मैं कैसे रहती है इसीलिए मैं चुप कर मेल में जाओ और देखूं देखो कि महल में रानी किस अवस्था में रहती है रात को वह रात को चोरी छिपे डाकू की तरह लगता बांधकर मेल पर चर्चा खिड़की खुली थी वह motivational story in Hindi,inspirational story in Hindi

देखने लगा कि मेरे बच्चे वह के श ा वह कैसा है वे राजा क्या दिखता की रानी का पलंग है जिस पर दो सो रहे हैं दो लोग सो रहे एक रानी और दूसरा कोई ऐसा देखकर उसके मन में शंका आएगी मेरी रानी के पास कोई दूसरा व्यक्ति सो रहा है राजा के अंदर शंका के साथी साथ ही ड्रेस चल गया और द्वेष के आते ही तलवार निकाला जाए इन दोनों को फिर से सिर फिर इनका उड़ा दूंगा मैं ऐसा मन में आते ही motivational story in Hindi,inspirational story in Hindi

story in Hindi

निकाल लगा तो श्लोक वाला पर्चा बाहर निकल कर जमीन पर गिर गया इस पत्र के श्लोक के भावार्थ को मन में लाकर उस राजा ने सोचा कि मैं जरा विवेक से काम लो जल्दबाजी नहीं करूं उस ने तलवार तो निकाल ली परंतु उनको कांटा नहीं और जरा चादर खींची तो बच्चा जो था चादर दवाई छोड़ा था एकदम रोने लगा मामा करने लगा राजा ने सोचा यह तो मेरा बेटा है मामा कर रहा है उसको उसको राजा ने तलवार म्यान में रख ली और हंसने लगा रानी कहने लगी हम तो डर गए और motivational story in Hindi,inspirational story in Hindi

सोचा कि कोई डाकुआ 11 जाने का डाकू आ गया राजा ने का डरने की कोई जरूरत नहीं है नीचे फौज खड़ी है अब वह राजा एकांत में सोचने लगा कि यह श्लोक का पर्चा नहीं होता तो मैं दोनों का सिर काट डालता फिर उस अवस्था में मेरे जैसा मूर्ख महा मूर्ख कौन होता मेरा सारा परिवार ही बर्बाद हो जाता अब बेकार हो जाता उसने अनुभव किया कि उस पंडित जी के श्लोक ने मुझे एक बड़ी भारी अनरसे बचा लिया तो अब उस पंडित जी से ₹500 तो क्या वापस लेने उसको motivational story in Hindi,inspirational story in Hindi

A1story in Hindi

और देंगे उधर उस पंडित कवि के मन में आया कि राजा आ गया है मैं उसका रोड उसका जो कर्ज लिया था वह चुका हूं यह सोचकर राजा के पास गया और कहा कि अब मैं यहां से मैं ा मेरा श्लोक कृपया करके मुझे वापस दे दे दीजिए अब मैं इसका प्रचार करूंगा और अब अपने यह ₹500 ले लीजिए राजा को ₹500 वापस तो क्या लेने थे ₹500 और दे दिए दी तो उसने मारा से का की ऐसी क्या बात है मेरे से तो motivational story in Hindi,

आपको ₹500 का ब्याज भी लेना चाहिए था आप ही ₹500 मुझे दे राजा ने अपनी सारी कथा कवि पंडित को सुनाई कि कैसे इस श्लोक ने मेरा परिवार नष्ट होते होते बचा लिया इस प्रकार मैं आपका ऋणी हूं और मैं इस बात से बहुत अफसोस है मुझे एवं पिता के अपमान का प्रायश्चित करके वह अपने घर वापस आ गया था तो इतनी ही है इसमें कभी तो संस्कृत का बहुत प्रसिद्ध कवि है कभी बाहर भी था motivational story in Hindi,inspirational story in Hindi

A1story

motivational story in Hindi, लिखा हुआ ग्रंथ है कि किरातार्जुनीयम् बड़ा ग्रंथ है बड़े-बड़े कवि को पढ़ ते पढ़ते और उससे उससे शिक्षा लेते कथा में सीखने की क्या बात है यही समझ आए जाएं झटपट कोई कार्य नहीं करना चाहिए सुख को पाने के लिए या थोड़ा थोड़ा दुख पड़ने पर मनुष्य का अपने अंदर मान मन भर जाता है और बड़ों का आदर नहीं करता और वह समझता है कि बड़े हमसे गलत चलने उन को मारने तक के लिए तैयार हो motivational story in Hindi,inspirational story in Hindi

जाता है मान रूपी राक्षस ऐसा अंदर हमारे घुस जाता है कि हम कुछ भी सोचते नहीं है और बिना सोचे ही हुए कार्य करने के लिए तत्पर हो जाते हैं कभी बाहर भी को उसके पिता ने यह उपदेश दिया कि आप कितना भी मान आदर प्राप्त करो लेकिन उसके अंदर आपको अभिमान नहीं आना चाहिए और मौत वह नहीं है जो शरीर मरे

मौत व है वह है जिसमें हमारी मान इज्जत चली जाए हमारा सम्मान चले हमारी मौत है और छत पर झटपट करके बिना विचार के कोई भी कार्य करना नहीं चाहिए थोड़ा उसमें motivational story in Hindi,inspirational story in Hindi

in Hindi story

विवेक चलना चाहिए थोड़ा विवेक तो होना चाहिए नहीं तो सारा काम बिगड़ जाता है इसीलिए इस कथा के माध्यम से हमको भी हम को भी यह सीखना चाहिए कि रिश्ते सब जरूरी है लेकिन मां-बाप का रिश्ता एक अनोखा रिश्ता होता है मां-बाप कभी नहीं चाहते कि हमारे बच्चे को कोई गलत करें या हमारा बच्चा कहीं किसी motivational story in Hindi,inspirational story in Hindi

गलत संगत में पड़ पड़े वह हमेशा चाहते हैं अच्छी संगत करें उसका मान इज्जत सब बरकरार रहे इसलिए माता-पिता को आप अपने द्वारा निशाना करें उनकी बात को समझने की कोशिश करें वह कभी भी हमारा बुरा नहीं चाहते अगर कोई बुरा चाहता है माता पिता माता-पिता तो हमको हम को यह समझना चाहिए कि इनका

किया इनके साथ उनको आदर मान देना चाहिए इस कहानी में हमको बहुत कुछ शिक्षा मिलती है अगर धीरज धर के हम ध्यान से सुनेंगे तो हमको बहुत कुछ सीखने को मिलेगा इसलिए बड़ों का घर में जो बड़े हैं उनका मान इज्जत करके उनकी बात को समझने का प्रयास करें और जिस से जिससे motivational story in Hindi,inspirational story in Hindi

बहुत कुछ मिलेगा और आप एक बात सुप्रसिद्ध जैसे बाहर भी कवि प्रसिद्ध हो गए ऐसे हम भी प्रसिद्ध हो जाएंगे अगर हम इस कहानी को ध्यान से pade तो इसलिए कोई भी कार्य करने में जल्दबाजी नहीं करें बिल्कुल धीरे से विवेक से विचार करके फिर हम कोई भी कार्य करें जिससे हम को भी राजा जैसे कभी को इतनी प्रसिद्धि मिली हमको भी जरूर वे प्रसिद्धि मिलेगी

read more motivational poems in Hindi

Advertisements

Top 50 +motivational poems in Hindi, har marj ka ilaaj

motivational poems in Hindi,

motivational poems in Hindi, Ishq Hua mukammAl

हर मर्ज का इलाज मिलता था उस बाजार में ,
मैंने मोहब्बत का नाम क्या लिया
सारे दवाखाने ही बंद हो गए
  • har marj ka ilaaj milta tha us Bajar mein ,
  • Mainne mohabbat ka nam kya liya
  • Sare daBakhane h1 band ho gaye
motivational poems in Hindi,
motivational poems in Hindi,
किसी के अकेलेपन का मज़ाक मत बनाना ,
क्योंकि जो तुम्हारे साथ भीड़ खड़ी है ना
वो भी किसी मतलब से ही खड़ी है
  • kisi ke Akelapan ka mazaak mat banana ,
  • kyonki jo tumHaare Sath bhid khadi hai na
  • wo bhi kisi matlab se hi khadi hai
motivational poems in Hindi,
motivational poems in Hindi,
वक़्त का सितम तो देखिए जनाब ,
खुद निकल जाता है हमें वहीं अकेला छोड़कर
  • vaqt ka sitam to dekhiye janab ,
  • khud nikal jaata hai hamen wahin Akela chhodakar
motivational poems in Hindi,
motivational poems in Hindi,
एक उम्र लग गयी एक ख्वाब सजाने में ,
उनको एक पल भी नहीं लगा उसे मिटाने में
  • ek umr lag gayi ek khBaab sajaane mein ,
  • unko ek pal bhi nahin laga use mitaane mein
motivational poems in Hindi,
motivational poems in Hindi,
मुस्कुराता हुआ वो किस्सा ,
आज रोते हुए खत्म हो गया
चल रही थी मोहब्बत की धड़कन धीरे-धीरे
लो आज वो भी गहराइयों में दफन हो गया
  • muskurata hua wo kissa ,
  • aaj rote hue khatm ho gaya
  • chal rahi thi mohabbat ki dhadkan dhire-dhire
  • lo aaj wo bhi gaharaiyon mein daphan ho gaya

motivational poems in Hindi, Ishq Hua mukammAl

motivational poems in Hindi,
motivational poems in Hindi,
जो कल रात गुजरी है उसपे एक कफन चढ़ा दो ,
मेरे सारे जज्बातों को एक प्यारी नींद सुला दो
और जो राज रखा है हमने अपने दरमियाँ
किसी को बताना मत हो सके तो आग लगा दो
  • jo kal raat gujari hai usape ek kaphan chadha do ,
  • mere Saare jajbaaton ko ek pyaari nind sula do
  • aur jo raaj rakha hai hamane apne daramiyaan
  • kisi ko bataana mat ho sake to aag laga do
motivational poems in Hindi,
motivational poems in Hindi,
बेवफा लोग भी वफा की बात करते हैं ,
सारे जख्म तो इन्हीं ने दिए हैं
और महफ़िल में बैठ कर दवा की बात करते हैं
  • bewafha log bhi wafha kibaat karte hain ,
  • Sare jakhm to inhin ne diye hain
  • aur mahafil mein baith kar dava ki baat karte hain
जिंदगी चैन से गुजर जाए ,
गर वो जेहेन से उतर जाए
  • Zindagi chain se Gujar Jaye,
  • garbo jehen she utar jae
हंसते हुए मेरे आंसू , मुस्कुराती हुई मेरी चीखें
खुशी से भरा हुआ मेरा गम, बस यही मेरी कहानी इतने ही हैं हम
  • hanSate huye mere Aansu , muskurati hui meri chikhen
  • khushi se bhara hua mera gam, bas yahi meri kahani itne hi hain ham

motivational poems in Hindi,

मैं मर जाऊंगा तो बचेगा क्या
सिर्फ मैं ही खुद के करीब हूँ
तो बताओ मेरे लिए
खूबसूरत जनाजा सजेगा क्या
  • main mar jaunga to bachega kya
  • sirph main hi khud ke karib hun
  • to batao mere liye
  • khubsurat janaja sajega kya
खुद को खुद के सामने खुदा बनते देखा है
ना जाने कितनी दफा मेरे गमों को मेरी दवा बनते देखा है
  • khud ko khud ke Samne khuda bante dekha hai
  • na Jaane kitni dapha mere gamon ko meri dava banate dekha hai
motivational poems in Hindi,
दो गजल एक जाम, ये जिंदगी भी तुम्हारे नाम
एक इश्क दो मुकाम, लो आज से ये शायर भी बदनाम
  • do gajal ek jaam, ye jindagi bhi tumhaare naam
  • ek ishk do mukaam, lo aaj se ye shaayar bhi badanaam
motivational poems in Hindi,
#मुझे .मालूम है .कि ये ख्वाब झूठे हैं
और ख्वाइशें अधूरी हैं
मगर जिंदा रहने के लिए
कुछ गलतफहमियां भी तो जरूरी हैं
  • mujhe maalum hai ki ye khbaab jhuthe hain
  • aur khvaishen adhuri hain
  • magar jinda rahane ke liye
  • kuchh galat fhahamiyaan bhi to jaruri hain
motivational poems in Hindi,
मोहब्बत का शायर हूँ
सियासत पर नहीं लिखता
दिलों में रंज है फिर भी
बगावत पर नहीं लिखता
  • mohabbat ka shayar hun
  • siyasat par nahin likta
  • dilon mein raj hai phir bhi
  • baGavat par nahin likta

motivational poems

आओ गले मिलकर देखें
कितने दूर हैं हम..!
मोहब्बत दोनों को है
फिर भी कितने मजबूर हैं हम
  • Aao gale milkar dekhen
  • kitne dur hain ham..!
  • mohabbat donon ko hai
  • phir bhi kitne majabur hain ham
“.तारीखों में धीरे-.धीरे .व्यतीत हो रहे हैं हम.
आज हैं.. लेकिन हर क्षण .अतीत हो रहे हैं हम”.
  • tarikhon mein dhire-dhire vyatit ho rahe hain ham ,
  • Aaj hain lekin har kshn Atit ho rahe hain ham”
motivational poems in Hindi,
फरिश्ते ही होंगे जिनका इश्क़ हुआ मुकम्मल ,
इंसानों को तो हमने सिर्फ बर्बाद होते देखा है
  • fharishte hi honge jinaka ishq hua mukammal ,
  • insanon ko to hamne sirfh barbaad hote dekha hai
motivational poems in Hindi,
सिर्फ दो ही गवाह थे मेरी मोहब्बत के ,
एक वो और एक वक्त इत्तेफाक देखिए साहब
एक गुजर गया तो दूसरा मुकर गया
  • sirfh do hi gabaah the meri mohabbat ke ,
  • ek bo aur ek wakt ittefhak dekhiye Saahab
  • ek gujar gaya to dusra mukar gaya
जिंदगी संवारने के लिए तो जिंदगी पड़ी है ,
अभी वो लम्हा संभाल लो जहां जिंदगी खड़ी है
  • jindagi Sanbarane ke liye to jindagi padi hai ,
  • Abhi Bo lamha Sambhaal lo jahan jindagi khadi hai
motivational poems in Hindi,
तू मेरे लिए अल्फ़ाज़ों से बेवजह ही लड़ा था ,
कोरा कागज जो तूने भेजा मैंने वो भी पढ़ा था”
  • tu mere liye Alfaazon se bevajah hi lada tha ,
  • kora kagaj jo tune bheja mainne bo bhi padha tha”

Jawab Ho Tum – Motivational Hindi Poetry

नकाब हो तुम दुनिया के सवालों से क्या डरना जवाब का जवाब हो तुम या हट हाथों से डरा नहीं करते आप खामोशियों से लड़ा नहीं करते

motivational poems in Hindi,

अंदर के अंधेरे से सब के सवालों से क्या डरना सभी का जवाब हो तुम तुम भी कभी आसमान में सितारे चमकते थे तुम भी तो हालातों की ठंड में देखते थे भी यही दुनिया मुश्किल है

 

लगे हर मुश्किल खुद में ऐसा विश्वास जगा छोटी लगे हर मुश्किल जिंदगी बदल सकता हूं मैं ऐसी हिम्मत है मुझ में जिंदगी बदल सकता हूं मैं ऐसी हिम्मत है मुझ में हर मुश्किल को हरा सकता हूं मैं ऐसी ताकत है मुझमें

 

कुछ का विश्वास इतना बड़ा दिखा खुद विश्वास इतना बड़ा दिखा छोटी लगे हर मुश्किल छोटी लगे हर मुश्किल
ऐसा इंसान बना छोटी लगे हर मुश्किल ऐसा ऐसा विश्वास जगा छोटी लगे मुश्किल

The motivational poem in Hindi

चींटी जब दाना लेकर चढ़ती है चढ़ती दीवारों पर सौ बार फिसलती है नन्हीं चींटी जब दाना लेकर चढ़ती है चढ़ती दीवारों पर सौ बार फिसलती है चढ़कर गिरना गिरकर चढ़ना उसको ना अखरता है

motivational poems in Hindi,

मन का विश्वास रगों साहस भरता है चढ़कर गिरना गिरकर चढ़ना उसको ना अखरता है मन का विश्वास रगों में साहस भरता है मेहनत उसकी बेकार हर बार नहीं होती
गोताखोर लगाते हैं जा कर खाली हाथ लौटकर आते हैं मिलते ना सहज ही मोती गहरे पानी में बढ़ता है उनका विश्वास इसी हैरानी में मिलते नहीं सहज ही मोती गहरे पानी में बढ़ता है उनका विश्वास इसी हैरानी में मुट्ठी उनकी खाली उसकी खाली हर बार नहीं होती कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती
कविता हमें बताती है कि हार या असफलता हमें सीखने और सुधार करने का मौका देती ्ड के बाद के बाद मिलने वाले शब्द या सीख हमारी अगली कोशिश में जुट जाते हैं जिससे हम फिर से अगली कोशिश के लिए तैयार हो जाते है

 Best Collection motivational poem in Hindi

हमारे लिए मौके हमेशा होते हैं अगर कोशिश के लिए तैयार होते हैं जिंदगी के पास मौके बेशुमार होते कोई एक मौका हमारे पास आता है तो उसके साथ उसकी समय सीमा जरूर होती है मौका जब हमारे पास चला जाता है तो उसका समय भी चला जाता वह समय फिर दोबारा नहीं

motivational poems in Hindi,

बात बिल्कुल सही है कि गुजरा हुआ वक्त दोबारा नहीं आता लेकिन जिंदगी के पास मौके हमेशा होते

 

अवसरों और संभावनाओं से भरी पड़ी है मौका चला जाता है तो हमें दूसरा मौका मिलता है दूसरा मौका चला जाता है फिर दूसरा मौका मिलता तक हम कोशिश करना नहीं छोड़ते

 

जिंदगी हमें मौके देना नहीं छोड़ती दगी जिंदगी हमारी सच्ची दोस्त इतना जरूर है कि जिंदगी हमें सच्चे अनुभव के कुछ कड़वे घूंट जरूर पिलाते ऐसा दगी के पास हमारे लिए सारे मौके खत्म हो हां पूरी हम पूरी तरह से निराश हो जाएं अर्थहीन हो

motivational poems in Hindi,

निर्देश हो जाए और कोई सुसाइड जैसा गलत कदम को शो कोशिश करके तो देखें जब जब आप अगली कोशिश के लिए खुद को तैयार करते हैं जिंदगी के पास हमेशा आपके लिए एक नया मौका होता है

motivational poem

कोशिश करते जाते हैं जिंदगी मौके दे दी जाती है जिंदगी कभी रुकती नहीं दगी कभी थकती नहीं

motivational poems in Hindi,

कभी हमसे यह नहीं मौके दिए तुमको अब कितने मौके को शशो कोशिश करते जाते हैं जिंदगी मौके देती जाती इज ऑफ अपॉर्चुनिटी इन लाइफ ऑफ पॉसिबल हमें बताती है कि हमें अपनी असफलताओं के लिए किसी को भी दोषी नहीं भी बाहरी व्यक्ति किसी बाहरी कारणों को जिम्मेदार नहीं ठहराना चाहिए अंदर यह पक्का नजरिया होना चाहिए मेरी असफलता मेरी विजय ता विजेता वही होता है जो असफलता को स्वीकार करता है

motivational poems in Hindi,

अपने आप में सुधार करता है और अगली कोशिश के लिए अपने आप आपको तैयार करता है फिर से हमें सफलता क चुनाव ी चुनौती है स्वीकार करो तुम क्या कमी रह गई देखो और सुधार करो तुम और सफलता असफलता एक चुनौती है

 

जब तक न सफल हो नींद चैन को त्यागो तुम संघर्षों का मैदान छोड़ कर मत भागो तुम बिना कुछ किए ही किसी की जय जय कार नहीं होती

Advertisements